स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव का लेख: घोषणापत्रों के वादे और इरादे

पिछले हफ्ते भाजपा और कांग्रेस के मेनिफेस्टो जारी हुए. अगर मेनिफेस्टो से चुनाव जीते जाते तो कांग्रेस यह चुनाव जीत जाती. अगर इस देश के वोटर पार्टियों के घोषणापत्र को पढ़कर नंबर देते, तो भाजपा जरूर परीक्षा में फेल हो जाती. भाजपा का ‘संकल्प पत्र’ पढ़कर समझ नहीं आता कि इस दस्तावेज में कहा क्या…

Swaraj India to not field candidates for Lok Sabha elections

प्रेस नोट स्वराज इंडिया   10 अप्रैल 2019   स्वराज इंडिया लोकसभा चुनाव में अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी   जनता से जुड़े असल मुद्दों को चुनावी विमर्श के केंद्र में लाने पर पार्टी अपना फोकस बनाए रखेगी   पार्टी ने वैकल्पिक राजनीति के लिए आशा जगाने वाले उम्मीदवारों के समर्थन की घोषणा की अपने सिद्धान्त, “पार्टी…