Delhi Police’s riots charge sheet is a parody scripted to prove the Boss is always right

Delhi Police’s riots charge sheet is a parody scripted to prove the Boss is always right

So, after six months of exhaustive investigation into the Delhi riots, the Delhi Police has discovered that its boss was, after all, right. On 11 March 2020, speaking on the floor of Lok Sabha, Home Minister Amit Shah had already pronounced his verdict on what caused the Delhi riots. Shifting radically from his first statement that these riots were spontaneous, he now claimed to […]

दंगों पर दिल्ली पुलिस की चार्ज शीट एक पैरोडी स्क्रिप्ट है जो यह बताने में जुटी है कि बॉस इज़ ऑलवेज राइट

दंगों पर दिल्ली पुलिस की चार्ज शीट एक पैरोडी स्क्रिप्ट है जो यह बताने में जुटी है कि बॉस इज़ ऑलवेज राइट

छह माह की खूब गहन जांच ! और, इस खूब गहन जांच के बाद दिल्ली के दंगों के बारे में दिल्ली पुलिस ने आखिर खोज ही निकाला कि उसके बॉस दरअसल एकदम सही कह रहे थे ! गृहमंत्री तो सदन (लोकसभा) में बहुत पहले यानि 11 मार्च को ही अपना फैसला सुना चुके थे कि दिल्ली में दंगे किस वजह से हुए. […]

उमर खालिद की गिरफ्तारी से भारतीय मुसलमानों की युवा पीढ़ी के लिए गरिमामय और लोकतांत्रिक आवाज उठाने का दरवाजा बंद हो गया है

उमर खालिद की गिरफ्तारी से भारतीय मुसलमानों की युवा पीढ़ी के लिए गरिमामय और लोकतांत्रिक आवाज उठाने का दरवाजा बंद हो गया है

मेरे एक दोस्त हैं हिलाल अहमद. मेरी तरह वे भी दिप्रिंट के स्तंभकार हैं. उन्होंने अपनी मेज पर तीन तस्वीरें सजा रखी हैं. एक तस्वीर काबा-शरीफ की है, आपको ये याद दिलाती हुई कि हिलाल पांचों वक्त के नमाजी हैं. बगल में एक स्केच चे ग्वेरा की है चूंकि हिलाल अहमद का मार्क्सवादी विचार-परंपरा से गहरा जुड़ाव है. और, तीसरी तस्वीर महात्मा […]

Swaraj India condemns arrest of Umar Khalid

Swaraj India condemns arrest of Umar Khalid

Swaraj India Press Release: 14th Sept 2020 Swaraj India condemns arrest of Umar Khalid ● Umar Khalid’s arrest is an attack on the real Opposition in the country ● Delhi Police merely scripting what the BJP led Central Government has directed ● This attempt to criminalise a democratic protest has dangerous implications Swaraj India condemns the arrest of youth leader […]

India needs SC-ST sub-quota. And the Supreme Court just removed one key roadblock

India needs SC-ST sub-quota. And the Supreme Court just removed one key roadblock

The last thing you expect me to do in these times is to welcome a Supreme Court judgment by Justice Arun Mishra’s bench. But it so happens that among the various questionable and controversial orders passed by Justice Arun Mishra before his retirement, one stood out for its positive potential. This judgment can remove a long-standing roadblock in fine-tuning India’s existing reservation policies. But it is […]

भारत में एससी-एसटी के बीच उपश्रेणियां बनाने की जरूरत, सुप्रीम कोर्ट ने राह की एक बाधा दूर की

भारत में एससी-एसटी के बीच उपश्रेणियां बनाने की जरूरत, सुप्रीम कोर्ट ने राह की एक बाधा दूर की

जिस तरह का वक्त आन पड़ा है उसमें शायद ही किसी को उम्मीद हो कि मुझ जैसा शख्स सुप्रीम कोर्ट के एक ऐसे फैसले का स्वागत करेगा जिसे जस्टिस अरुण मिश्रा की बेंच ने सुनाया है. वैसे तो जस्टिस मिश्रा ने रिटायरमेंट से पहले बहुत से विवादास्पद फैसले सुनाये, उनके कई फैसलों पर सवालिया निशान लगाये जा सकते हैं लेकिन उनका सुनाया हाल का एक […]

MAIZE MSP DEMAND TAKEN BEFORE AGRI MINISTER BY YOGENDRA YADAV

MAIZE MSP DEMAND TAKEN BEFORE AGRI MINISTER BY YOGENDRA YADAV

Swaraj India – Jai Kisan Andolan Press Release | 9th September, 2020 MAIZE MSP DEMAND TAKEN BEFORE AGRI MINISTER BY YOGENDRA YADAV Delhi, 9th September, 2020: Yogendra Yadav, President of Swaraj India and Founder of Jai Kisan Andolan today met Shri Narendra Singh Tomar, Union Minister of Agriculture at Krishi Bhavan in Delhi, raising the demands of maize farmers of […]

योगेन्द्र यादव का कॉलम:अंग्रेजी के वर्चस्व के खिलाफ हिंदी अकेले नहीं लड़ सकती; कड़वा सच है कि अंग्रेजों के जाने के बाद से देश में अंग्रेजी की गुलामी घटी नहीं, बढ़ी है

योगेन्द्र यादव का कॉलम:अंग्रेजी के वर्चस्व के खिलाफ हिंदी अकेले नहीं लड़ सकती; कड़वा सच है कि अंग्रेजों के जाने के बाद से देश में अंग्रेजी की गुलामी घटी नहीं, बढ़ी है

इस साल हिंदी दिवस (14 सितंबर) पर हिंदी भाषियों, हिंदी प्रेमियों और शुभचिंतकों को पांच संकल्प लेने चाहिए ताकि हमें राजभाषा पखवाड़े के पाखंड से मुक्ति मिले। साथ ही हिंदी दिवस के नाम पर हर साल हिंदी की बरसी न मनानी पड़े। कड़वा सच यह है कि अंग्रेजों के जाने के बाद से देश में अंग्रेजी की गुलामी घटी नहीं, […]