स्वराज इंडिया हरियाणा के वरिष्ठ नेता रवि भटनागर का लेख: किसान की दुर्दशा, ज़िम्मेदार कौन ?

स्वराज इंडिया हरियाणा के वरिष्ठ नेता रवि भटनागर का लेख: किसान की दुर्दशा, ज़िम्मेदार कौन ?

किसान की दुर्दशा, ज़िम्मेदार कौन ? सोना तो उगलती रही इस देश की धरती, पर जाता कहाँ रहा? सब जानते हैं, किस किस ने निगला इस सोने को। कवि और लेखकों की अद्भुत कल्पनायें, किसान को अन्नदाता के रूप में संबोधित कर उनका मान बढ़ाती रहीं। हमारे सिनेमा और सभी बडे़ राजनीतिक दलों के नेता हर मौके पर और हर […]

स्वराज इंडिया हरियाणा के वरिष्ठ नेता रवि भटनागर का लेख: जनतंत्र की कथा, व्यथा और विकल्प

स्वराज इंडिया हरियाणा के वरिष्ठ नेता रवि भटनागर का लेख: जनतंत्र की कथा, व्यथा और विकल्प

जनतंत्र की कथा, व्यथा और विकल्प आज देश की आम जनता और सामाजिक अवस्था, दोनों ही व्यथित हैं। जनता की चाहतें ही नहीं, अब तो मूलभूत ज़रूरतें भी आसमान छू रही हैं. सरकार की हर कोशिश मुसीबतों को और बढाती हुई लगती है. चार साल पहले जनता ने कुछ बेहतर हो जाने की उम्मीदें पाली थीं। अच्छे दिनों के वायदों […]