स्वराज इंडिया हरियाणा के वरिष्ठ नेता रवि भटनागर का लेख: नमाज़ पर फजीहत कैसी ?

स्वराज इंडिया हरियाणा के वरिष्ठ नेता रवि भटनागर का लेख: नमाज़ पर फजीहत कैसी ?

नमाज़ पर फजीहत कैसी ? यह गुरुग्राम है. भारत का मिलेनियम शहर, जो भारत के नामी औद्योगिक शहरों में शुमार होता है, और दिल्ली की तर्ज़ पर मिनी इंडिया भी कहलाता है. देश भर से रोज़ी-रोटी की तलाश में आये लोगों के साथ बहुत से विदेशी भी यहाँ निवास करते हैं. बीते कुछ दिनों में कुछ स्थानीय धार्मिक संगठनो द्वारा […]

Swaraj India National President Yogendra Yadav’s article: Distinction Between Pro-Minority-ism and Secularism – a Compass to Guide Secular Politics

Swaraj India National President Yogendra Yadav’s article: Distinction Between Pro-Minority-ism and Secularism – a Compass to Guide Secular Politics

Distinction between pro-minority-ism and secularism: a compass guide to secular politics Secularism must be distinguished from pro-minorityism. Two recent incidents, both related to Friday Namaz, invite us to draw this distinction sharply. The first incident relates to a dispute about whether Muslim teachers in Delhi should be given a special leave for Juma namaz, the Friday prayers. The Minority Commission […]

स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव ध्यानी का लेख: बेघर और बेचारे लोग

स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव ध्यानी का लेख: बेघर और बेचारे लोग

बेघर और बेचारे लोग म्यांमार के रोहिंग्या संकट पर राजीव ध्यानी के लम्बे लेख की पहली किश्त   12- 13 सितम्बर 17 को, जब बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना रोहिंग्या शिविरों को देखने पहुंची तो उन्हें देखते ही म्यांमार की सीमा के पास स्थित बालुखाली-कुटुपलांग के शिविरों में एक साथ सैकड़ों महिलाओं के आर्त्रनाद गूँज उठे. जब माँओं ने बिलखते हुए बताना शुरू […]

स्वराज अभियान महाराष्ट्र का महासचिव, संजीव साने का लेख: समता या समरसता

स्वराज अभियान महाराष्ट्र का महासचिव, संजीव साने का लेख: समता या समरसता

समता या समरसता? देश भर में 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी शुरू हो गई है. सत्ताधारी दल समाज के विभिन्न समूहों के बीच अपनी छवि सुधारने के लिए जोर-शोर से कार्यक्रम कर रहा है. विगत चार सालों में सरकार ने जो निर्णय लिये, वे समाज के हित में हैं, यह बात थोपने की कोशिश ज़ोरों पर है. समाज के […]

Swaraj India VP Shalini Malviya’s article: My Vote, My Life

Swaraj India VP Shalini Malviya’s article: My Vote, My Life

My Vote, My Life “On January 26, 1950, we are going to enter into a life of contradictions. In politics we will have equality and in social and economic life we will have inequality. In politics, we will be recognising the principle of one man-one vote and one vote-one value. In our social and economic life, we shall by reason […]

Swaraj India West Bengal President Sanjeeb Mukherjee’s article: A Guided Tour of Marx in India

Swaraj India West Bengal President Sanjeeb Mukherjee’s article: A Guided Tour of Marx in India

A Guided Tour of Marx in India Karl Marx was the only concerned intellectual and philosopher of modern times who combined the best of the two greatest thinkers of human history, namely, Gautam Buddha and Aristotle. Like Buddha, Marx’s central concern was human suffering, oppression and exploitation, from which both sought emancipation through knowledge and understanding and care. Similarly, Marx […]