JOIN

India Deserves Better

VOLUNTEERDONATE

Swaraj India condemns slander campaign against woman lok sabha candidate, Atishi in East Delhi


Press Release

Swaraj India condemns slander campaign against woman lok sabha candidate, Atishi in East Delhi

• Swaraj India condemns the unacceptable slander campaign against Atishi, as also the equally unacceptable deplorable statements against Ms Jaya Prada by Azam Khan and  oblique remarks on Smt Priyanka Gandhi by BJP President, Amit Shah.
• Swaraj India appeals to all women contestants of all political affiliations to condemn in one voice the disgraceful utterances and publication against women in general and    particularly as candidates during participation in public life.
• Swaraj India appeals to Election Commission to investigate and take serious action against perpetrators of such dastardly acts to ensure fair and free opportunity to all    candidates and mark it as violation of Model Code of Conduct entailing punishment of disqualification from election and as a voter for two consecutive elections.
• Ensure that there are at least two Election Commissioners who are women for the future elections. Swaraj India is contemplating to petition the ECI after the elections to start a  national debate on this issue.

Slander campaign against East Delhi candidate, Ms Atishi, marks an abyss in the political discourse of the country. Pamphlets in circulation are an onslaught on a women’s dignity.
Though such utterances have been a feature in all past elections, these elections have marked a new low. There are utterances from Azam Khan in Uttar Pradesh against Ms Jaya Prada, and also oblique references to cosmetics of Priyanka Gandhi by none other than the BJP President, Amit Shah, in a national TV programme.

Effective women participation in Indian politics will remain a distant dream unless such conditions are firmly quelled. It is anyways a difficult proposition for women to step in public life. Such slanderous campaigns and sexist remarks further weaken these possibilities. Such campaigns are not only detrimental to effective political discourse, these serve the purpose of a few who refuse to accept that women of 21st century are demanding their rights as individuals.

Since Swaraj India has always tried to promote women participation in politics, we feel that such incidents should be taken up seriously and the perpetrators of such actions be reprimanded and ostracized from public life. It is in this light, we in Swaraj India has put together, Internal Complaint Committee, complying Vishaka Guidlines to safeguard, protect and ensure equality of women within party.

Considering that most of the political parties are selective in their criticism to such unwanted incidents and many a times are seen promoting such elements by offering them cabinet portfolios, the electorate needs to assume responsibility and vote out such people.
We also demand that a fast track thorough investigation of the incident in East Delhi constituency against Atishi be ordered by election commission to expose the perpetrators and further take exemplary action in the matter.
We also demand that all political parties forthwith issue statements of decrial and condemn the demeaning tirade against the East Delhi candidate.

स्वराज इंडिया पूर्वी दिल्ली से महिला उम्मीदवार आतिशी के विरुद्ध चलाये जा रहे चरित्रहनन अभियान की भ्रत्स्ना करती है

• स्वराज इंडिया  आतिशी के विरुद्ध चलाये जा रहे घटिया अभियान  के अतिरिक्त श्रीमती जया प्रदा के खिलाफ आज़म खान की बेहूदा टिप्पणी और भाजपा अध्यक्ष, अमित शाह की श्रीमती प्रियंका गाँधी पर गैर-ज़रूरी टिप्पणी की भ्रत्स्ना करती है
• स्वराज इंडिया  सभी दलों की महिला उम्मीदवारों से एक स्वर में ऐसी बेहूदा टिप्पणियों का विरोध करने की अपील करती है। ऐसा करना उनकी नैतिक ज़िम्मेदारी भी है।
• स्वराज इंडिया चुनाव आयोग से अपील करती है कि इस प्रकरण की जांच हो और दोषियों पर गंभीर कार्यवाही की जाए।  स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए सभी कारगर कदम उठाये जाएँ।  इस तरह की गतिविधियों को चुनाव संहिता का उल्लंघन माना जाए जिसके चलते दोषी को चुनाव से बाहर किया जाए और बतौर मतदाता, उस पर दो चुनाव की रोक लगाई जाए।
• भविष्य  के चुनाव में कम से कम दो महिला चुनाव आयुक्त हों। चुनाव के बाद राष्ट्रिय बहस के लिए चुनाव आयोग के समक्ष ऐसी याचिका देने का मन बना रही है। चुनाव के बाद राष्ट्रिय बहस के लिए चुनाव आयोग के समक्ष ऐसी याचिका देने का मन बना रही है।

पूर्वी दिल्ली की उम्मीदवार आतिशी के विरुद्ध चलाया गया अभियान देश में राजनीतिक संवाद के पतन  की पराकाष्ठा है।  जनता के बीच बांटे गए पर्चे महिला के सम्मान पर कुठाराघात हैं।

हालांकि ऐसे बेहूदा बयान पिछले चुनावों में भी  दिए  गए हैं, लेकिन इन चुनावों में तो मर्यादा की सभी सीमाएं तोड़ दी गयी।  उत्तर प्रदेश में श्रीमती जया प्रदा के खिलाफ आज़म खान की टिपण्णी से लेकर श्रीमती प्रियंका गाँधी के लिए राष्ट्रीय टीवी  कार्यक्रम में भाजपा अध्यक्ष, अमित शाह की गैर-ज़रूरी टिपण्णी सुनायी दी।

जब तक इन परिस्थितियों का दमन नहीं होगा, तब तक भारतीय राजनीती में कारगर महिला भागीदारी एक सपना ही रहेगा।  वैसे भी महिलाओं के लिए सामाजिक जीवन में कदम रखना  मुश्किल है।  ऐसे चरित्रहनन  करने वाले अभियान और अभद्र बयान  इन संभावनाओं को और धूमिल करते हैं।  यह अभियान न केवल राजनीतिक संवाद को नुकसान पहुंचाते हैं, यह  शक्तियों को बल देते हैं जो इक्कसवीं सदी में भी महिला के व्यक्ति के  तौर पर अधिकारों को नकारते हैं।

क्योंकि स्वराज इंडिया ने हमेशा महिलाओं की राजनीती में सहभागिता को बढ़ावा दिया है, हमारा मानना है कि ऐसे प्रकरणों  से  गंभीरता से लेना चाहिए दोषियों को सामाजिक जीवन से निष्कासित करना चाहिए।  इसी सन्दर्भ में स्वराज इंडिया ने महिलाओं की सुरक्षा और समानता के अधिकारों की रक्षा के लिए विशाखा दिशा निर्देशों के अनुरूप पार्टी में आंतरिक शिकायत समिति का गठन भी किया।

यह जानते हुए कि अधिकतर  राजनीतिक दल  ऐसे अभद्र प्रकरणों पर संकुचित रूप  से ही आलोचना करती हैं, और बहुत बार तो ऐसे  पीछे भी कड़ी दिखती हैं, उन्हें मंत्री परिषद् में स्थान भी देती हैं, ज़िम्मेदारी  मतदाताओं पर है कि वे ऐसे लोगों को चुनाव में हरायें।

हम चुनाव  आयोग से मांग करते हैं कि पूर्वी दिल्ली में आतिशी  के  खिलाफ रचे इस प्रकरण की त्वरित जांच हो और दोषियों पर अनुकरणीय कार्यवाही की जाए।
हम सभी दलों से गुज़ारिश करते हैं  कि वे इस प्रकरण का विरोध करते हुए आधिकारिक  बयान दें।

 

Media Cell

For queries contact:
Ashutosh / 
+91 9999150812
Inline image 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *