म्यांमार के रोहिंग्या संकट पर स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव ध्यानी के लम्बे लेख की सातवीं किश्त

म्यांमार के रोहिंग्या संकट पर स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव ध्यानी के लम्बे लेख की सातवीं किश्त

बेघर और बेचारे लोग-7 बहरहाल 25 अगस्त 17 से लेकर यह लेख लिखे जाने तक साढ़े छः लाख से ज्यादा नए रोहिंग्या बांग्लादेश में आ चुके थे, जबकि लगभग सवा दो लाख हज़ार शरणार्थी पहले से ही बांग्लादेश में थे. बांग्लादेश में हज़ारों निर्जन और कम आबादी वाले द्वीप हैं. मीडिया में आई ख़बरों के मुताबिक़ पहले सरकार ने पहले […]

म्यांमार के रोहिंग्या संकट पर स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव ध्यानी के लम्बे लेख की छठवीं किश्त

बेघर और बेचारे लोग-6 अक्टूबर 2016 में बंगलादेश सीमा के निकट म्यांमार की तीन सीमा चौकियों पर आतंकियों ने बड़ी संख्या में इकठ्ठे होकर हमले किए, और बड़ी मात्रा में हथियार और गोला- बारूद लूट ले गए. इस तरह के हमले कई दिनों तक जारी रहे. जवाब में म्यांमार सेना ने अपना पुराना हथियार चला. आतंकी तो अक्सर उनके हाथ […]

म्यांमार के रोहिंग्या संकट पर स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव ध्यानी के लम्बे लेख की पाँचवीं किश्त

म्यांमार के रोहिंग्या संकट पर स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव ध्यानी के लम्बे लेख की पाँचवीं किश्त

बेघर और बेचारे लोग-5 रोहिंग्याओं के खिलाफ बर्मा यानी म्यांमार की सेना तथा स्थानीय लोगों के ताजातरीन हमले के पीछे दरअसल अराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी (ARSA) नाम का एक सशस्त्र मिलिटेंट संगठन था. अभी हाल तक इसे ‘हरकत अल यक़ीन’ के नाम से जाना जाता था. लेकिन इस नाम से इसका इस्लामी धार्मिक उद्देश्य ज्यादा दिखता था,राजनैतिक कम. इसलिए इसका […]

An Interview with Swaraj India Presidium Member Devanoor Mahadeva: Alternative Politics

An Interview with Swaraj India Presidium Member Devanoor Mahadeva: Alternative Politics

Alternative Politics: An Interview With Devanoora Mahadeva This interview, in Kannada, was first published on August 2nd 2015 in Prajavani. Translated into English and edited by Rashmi Munikempanna. Sarvodaya Karnataka Party, which was founded as a part of Karnataka’s alternative political experiments, merged with Swaraj India in early 2017. Devanoora Mahadeva, who was the president of Sarvodaya Karnataka, is one […]

स्वराज इंडिया हरियाणा के वरिष्ठ नेता रवि भटनागर का लेख: किसान की दुर्दशा, ज़िम्मेदार कौन ?

स्वराज इंडिया हरियाणा के वरिष्ठ नेता रवि भटनागर का लेख: किसान की दुर्दशा, ज़िम्मेदार कौन ?

किसान की दुर्दशा, ज़िम्मेदार कौन ? सोना तो उगलती रही इस देश की धरती, पर जाता कहाँ रहा? सब जानते हैं, किस किस ने निगला इस सोने को। कवि और लेखकों की अद्भुत कल्पनायें, किसान को अन्नदाता के रूप में संबोधित कर उनका मान बढ़ाती रहीं। हमारे सिनेमा और सभी बडे़ राजनीतिक दलों के नेता हर मौके पर और हर […]

स्वराज अभियान महाराष्ट्र के महासचिव, संजीव साने का लेख: गैर भाजपा वाद कितना सही, कितना जरूरी?

स्वराज अभियान महाराष्ट्र के महासचिव, संजीव साने का लेख: गैर भाजपा वाद कितना सही, कितना जरूरी?

गैर भाजपा वाद कितना सही, कितना जरूरी? 2019 के चुनावी गठजोड़ की शुरुआत कर्नाटक से हो गई है. भाजपा विरोधी शक्तियाँ अपने अंकगणित के हिसाब से देश की मौजूदा जनविरोधी और संविधान विरोधी सरकार को उखाड़ फेंकने की मंशा रखती हैं, जो कि स्वाभाविक भी है. इसी अंकगणित को सामने रखकर डॉ. राम मनोहर लोहिया ने वर्ष 1961 से गैर […]

স্বরাজ ইন্ডিয়া পশ্চিমবঙ্গের রাজ্য অধ্যক্ষ সঞ্জীব মুখার্জীর প্রতিবেদন: পশ্চিমবঙ্গের দীর্ঘস্থায়ী ও গভীর সমস্যাগুলি ও তার মোকাবিলার উপায়

স্বরাজ ইন্ডিয়া পশ্চিমবঙ্গের রাজ্য অধ্যক্ষ সঞ্জীব মুখার্জীর প্রতিবেদন: পশ্চিমবঙ্গের দীর্ঘস্থায়ী ও গভীর সমস্যাগুলি ও তার মোকাবিলার উপায়

পশ্চিমবঙ্গের দীর্ঘস্থায়ী ও গভীর সমস্যাগুলি ও তার মোকাবিলার উপায় আজ পশ্চিমবঙ্গ, অর্থনীতি থেকে শুরু করে সংস্কৃতি, সব ক্ষেত্রেই তার প্রাধান্য হারিয়েছে। আমরা আত্মসমালোচনা করতেও ভুলে গিয়েছি – কেন আমাদের এরকম অবস্থা হল বা কোন উপায়ে আমরা এই অবস্থা থেকে বেরিয়ে আসতে পারি। দিনের পর দিন চলে আসা হিংসা এবং প্রতিহিংসার রাজনীতির দরুন বহু সুযোগ আমরা হারিয়ে বসেছি। “স্বদেশী” ও “স্বরাজ” […]