JOIN

India Deserves Better

VOLUNTEERDONATE

स्वराज इंडिया ने आज से शुरू किया 100 दिवसीय “मिशन जय हिंद”


Press Release

स्वराज इंडिया
प्रेस विज्ञप्ति
4 जुलाई, 2020

 

स्वराज इंडिया ने आज से शुरू किया 100 दिवसीय “मिशन जय हिंद”

 

* राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने की अपने गांव सहारनवास से शुरुआत।*

 

“लॉकडाउन से कोरोना तो लॉक नहीं हुआ गरीब जरूर डाउन हो गया” – योगेन्द्र यादव

 

* स्वराज इंडिया टीम ने कोरोना की सावधानी, राशन व्यवस्था और मनरेगा में भारी कमियां पाई।*

“कोरोना संकट से निपटने के लिए पूरे देश में बिना तैयारी के एक झटके से लागू किए गए लॉकडाउन के कारण कोरोना की महामारी तो लॉक नहीं हुई, लेकिन देश के मजदूरों का जीवन जरूर डाउन हो गया। आज इस महामारी में लोग तो हाथ नहीं धो रहे हैं, लेकिन सरकारें जरूर हाथ धो रही है अपनी जिम्मेदारियों से।” यह बात स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने मिशन जय हिंद की शुरुआत करते हुए कही।

आज 4 जुलाई से पूरे देश भर में स्वराज इंडिया की ओर से 100 दिवसीय अभियान की शुरुआत हुई। इस अवसर पर स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने अपने गांव सहारनवास में इस अभियान का श्रीगणेश किया। अभियान का उद्देश्य स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि अगले 100 दिन तक स्वराज इंडिया के वॉलंटियर्स गांव गांव जाएंगे जनता की बात सुनेंगे, सुनाएंगे उनकी समस्याओं का समाधान करेंगे और लोग स्वयं इस संकट का मुकाबला कर सके इसके लिए नए साथी जोड़ेंगे।

स्वराज इंडिया के अन्य साथियों के साथ उन्होंने ढाणी सांतो और बहोतवास अहीर गांव का भी दौरा किया और वहां लोगों से मिलकर पिछले तीन महीनों में उनके दुख सुख के बारे में पूछा। उन्होंने पाया कि हालांकि लगभग हर व्यक्ति कोरोना बीमारी के नाम से परिचित है, लेकिन इस बीमारी से बचने के लिए मास्क पहनने, दूरी बनाने और हाथ धोने जैसे जरूरी सावधानियों के बारे में जानकारी बहुत कम है।

गांव में गरीब तबके के लोगों से बात कर उन्होंने पाया कि लॉकडाउन की असली गाज मजदूर वर्ग पर गिरी है। कच्ची नौकरी कर रहे लोग दिहाड़ी मजदूर और अपना छोटा मोटा काम धंधा करने वाले मजदूरों पर इन 3 महीनों में आफत आ गई थी। महिलाओं के लिए रसोई चलाना मुश्किल हो गया था। राशन की व्यवस्था कहीं तो अच्छी लेकिन कहीं दोषपूर्ण पाई गई। बेरोजगारी का संकट अब भी इन गांव के गरीब मजदूरों के लिए सबसे बड़ा संकट बनकर खड़ा हुआ है।

इस दौरे और बाकी सब साथियों के अनुभव सुनने के बाद योगेंद्र यादव ने प्रशासन से अनुरोध किया कि वे करो ना बीमारी से बचने के लिए सावधानियों का प्रचार प्रसार करें, राशन की व्यवस्था को दुरुस्त बनाने पर ध्यान दें और मनरेगा का खुले हाथ से इस्तेमाल करें। इस दौरे में सरपंच जगमाल सिंह, श्री धर्म सिंह, श्री बलवंत, श्री रामअवतार और श्री सतपाल शामिल रहे। रविवार को स्वराज इंडिया की टीम रेवाड़ी शहर की गरीब बस्तियों का दौरा करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *